Friday, August 12, 2022

Independence Day Shayari, Wishes, Quotes - हिंदी में

Independence Day Shayari, Wishes, Quotes  - 15 August हमारे लिए कैसा खुशियों वाला Festival है ये तो भारत का हर नागरिक जनता ही है| ये त्यौहार वो लोग बड़े ज़ोर शोर से मानते है जो अपने देश से सच्चा प्यार करते है| और हम सब भारत के नागरीब उन लोगो को बहुत मान सम्मान से श्रद्धांजलि देते है जिन्होंने हमारे इस देश को आज़ाद करने में अपना सब कुछ कुर्बान कर दिया|


Independence Day Shayari, Wishes, Quotes - हिंदी में

और आखिरकार 1940 से स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करते करते हमारे वीरो ने 15 August 1947 को हमारा ये देश अंग्रेज़ो के चुंगल से आज़ाद करा ही लिया और ये हमारा 76 वा स्वतंत्र दिवस है| 

इसलिए हम ये 15 August का दिन बहुत ही शोक से मानते है| इस दिन हमारे बुज़ुर्गो ने अपने इस भारत के लिए अपने बच्चो और अपनी जानो माल की कुर्बानी दे दी और उन्होंने ये इसलिए किया क्योंकि वो जानते थे की हमारी आने वाली नस्ले भी गुलामी की जंजीरो में रहेंगी और उन्होंने ये सोचकर खुद देश के लिए मर मिटना पसंद करा और आज उन्ही की वजह से हम आज़ाद है| 

आज हम इस त्यौहार के मौके पर आप सभी के लिए Indepedence day shayari, independence day in hindi, independence day quotes, independence day in hindi, independence day 2022, independence day speech in hindi, 15 august 2022, 15 august shayari in hindi, 15 august speech in hindi लेकर आये है जिनका उपयोग आप 15 August की सुभकामनाये देने के लिए कर सकते हो| 

Independence Day Shayari हिंदी में 

15 August 2 Line Shayari

ज़िक्र अगर हीरो का होगा, 
तो नाम भारत के वीरो का होगा|

15 August 2 Line Shayari

सरहद पर सहीद हुआ वो सिपाही सच्चा था, 
तुम को पता नहीं वो बीस साल का बच्चा था|

एक ख्वाब था के इरादे सबके नेक हो जाए, 
हम टूटे न रहे बल्कि सब एक हो जाए|  

आगे राह कठिन मगर लौट जाना भाता नहीं, 
सर कटा सकते मगर सर झुकना आता नहीं|    

मरने के बाद भी जिसके नाम में जान है, 
ऐसा जाबाज़ सैनिक हमारे भारत की शान है|

कोन कहता है कामयाबी किस्मत तय करती है, 
इरादों में दम हो तो मंज़िले भी झुका करती है|   

घायल तो यहाँ हर एक परिंदा है, 
जो फिर से उड़ सका वही ज़िंदा है|

सोच की आज़ादी ही हकीकत में आज़ादी है, 
वरना आज़ाद शहर में भी हज़ारो गुलाम देखे है| 

इन बिगड़े दिमागों में खुसबूओ के लच्छे है, 
हमें पागल ही रहने दो हम पागल ही अच्छे है|

कुछ बात तो है जो मिटती नाही हस्ती हमारी, 
सदियों रहा दुश्मन दोरे जहाँ हमारा|

हम अपनी जान के दुश्मन को अपनी जान कहते है, 
मोहब्बत की इसी मिटटी को हिन्दुस्तान कहते है|   

दिल से निकलेगी न मर कर भी वतन की उल्फत, 
मेरी मिटटी से खुसबू की वफ़ा आएगी|

मेरे जज़्बातो से इस क़दर वाक़िफ़ है मेरी कलम, 
में इश्क़ भी लिखना चहु तो इंक़लाब लिख जाता है | 

15 August Wishes


आखरी सांस तक लड़ना, 
पर गद्दारो का वतन न करना|  
जहा बसेरा हो देशद्रोहियो का, 
मुझे वहा दफ़न न करना| 

15 August Wishes

झुक के करो सलाम उनको, 
जिनके मुक़द्दर में ये मुक़ाम आता है|  
खुशनसीब होता है वो खून, 
जो देश के काम आता है|  

और भी खूबसूरत और भी ऊँचा
मेरे देश का नाम हो जाए ! 
काश की हर हिन्दू विवेकानंद 
और हर मुस्लिम कलाम हो जाए !  

गोली चले जब भी तुझपर, 
तेरा ढाल मेरा बदन होगा|  
वतन से गुस्ताखी करने वाला, 
मिटटी में दफ़न होगा| 

Independence day Quotes 


हमारा सौ दर्द एक फ़र्ज़ है, 
हर लहू पे वतन का क़र्ज़ है|  
चुकाना तो है हर हाल में इसे, 
ऐसे भारत पर हमको गर्व है|  

सरहद पर मर गया वो जो, 
उसपर भी कोई मरता था|  
मर गयी उस चेहरे की चमक भी,
जो उसके आने पर सवरता था|    

आन देश की शान देश की, 
देश की हम संतान है|  
तेन रंगो से रंगा तिरंगा, 
अपनी ये पहचान है|    

अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं 
सर कटा सकते है ! 
लेकिन सर झुका सकते नहीं !!

फ़ना होने की इजाज़त ली नहीं जाती 
ये वतन की मोहब्बत है यारो 
पूछकर नहीं की जाती|

15 August Shayari In Hindi   


क्रान्ति के लेहेर उठी थी जब, 
देश को आज़ाद कराने में !
भारत के वीरो ने कोई कसर नहीं छोड़ी थी, 
अंग्रेज़ो को मार भागने में !   
  
15 August Shayari In Hindi

नशा देश का साहब जान देने से भी नहीं घबराते है ! 
ये  हिन्दुस्तान के बेटे है, 
मौत को जेब में रखकर मुस्कुराते है !! 

सूरज की पहली किरण और लहरता तिरंगा 
नयी उम्मीदों के संग !
उड़ता है भारत का हर एक परिंदा | 

मत पूछो ज़माने से, 
क्या हमारी कहानी है|  
हमारी पहचान तो बस इतनी है की, 
हम हिन्दुस्तानी है|  

जब तक हमारी रगो में खून रहेगा, 
तेरी सां में मिटने का जूनून रहेगा 
हम खामोश नहीं रह सकते भारत माता,
जब तक तेरे गद्दारो में सुकून रहेगा |
 

15 August 2022 Best Collection


हम आज़ाद हुए फिरंगो से !  
मनाये ये दिन उमंगो से 
हम आज़ाद हुए गुलामी से 
तो क्यों न देश का मान बढ़ाये सलामी से !!

हम उन जज़्बातो की कदर करते है साहब  
जिसमे महात्मा गाँधी नहीं 
भगत सिंह हुआ करते थे !!  

हम मुसलमान है साहब ! 
जितनी मोहब्बत ईमान से है 
उतनी ही मोहब्बत हिंद्स्तान से है !! 

ज़र्रा ज़र्रा आज़ाद हो रहा था ,
पूरे देश में इंक़लाब हो रहा था | 
उस शक़्स को क्या झुकाते वो, 
जो मर कर भी अपनी मूछो पर ताव दे रहा था | 

जब भी बोलेंगे तेरा ही जुबां रहेगा ,
आशिक़ ये तेरा तुझपर क़ुर्बान रहेगा !
मिटने का भी गिला न होगा हमको ,
अगर आबाद ये हिन्दुस्तान रहेगा !! 

आप सभी को हमारी तरफ से इस 76 वें स्वतंत्र दिवस की हार्दिक सुभकामनाये में उन लोगो को सत - सत नमन करता हूँ और उनका बहुत शुक्र गुज़ार हूँ जिन्होंने हमारे देश के लिए अपना बलिदान दिया और हमें अंग्रेज़ो की कैद से आज़ाद करा कर उन्हें मार भगाया|

ये भी पढ़े --


में उम्मीद करता हूँ ये आर्टिकल आपको बेहद पसंद आया होगा क्योंकि इसमें हमने अपने हिन्दुस्तान की मोहब्बत में बहुत ही जबरदस्त शायरी लिखी है जिसको आप अपने दोस्तों या रिश्तेदारों के साथ शेयर कर सकते हो| 

अगर आपको हमारा ये Independence Day Shayari आर्टिकल ज़रा भी अच्छा लगा हो तो आप इसे Social Media पर शेयर जरूर करे ताकि और लोग भी इसे पढ़ सके और हम आपके लिए ऐसे ही आर्टिकल लाते रहे| 

0 comments:

Post a Comment

Popular Posts